nifty kya hai hindi | nifty aur sensex me kya antar hota hai

4

nifty kya hai hindi >  दोस्तों आपने शेयर मार्केट का नाम तो सुना ही होगा और शेयर मार्केट के साथ-साथ आपने अभी सुना होगा निफ्टी का नाम आपने न्यूज़ में कभी ना कभी जरूर सुना होगा जब शेयर मार्केट के बारे में बताते हैं तो निफ्टी और सेंसेक्स के बारे में ही बताते हैं

शेयर मार्केट में बोलते हैं कि निफ्टी आज इतने अंक उछलकर इतनी ऊपर रही है इतने अंक गिरकर यहां पर बंद हुई तो आपके मन में यह सवाल जरूर आता है कि nifty kya hai hindi और सेंसेक्स और निफ्टी में क्या फर्क होता है और सेंसेक्स क्या होता है

क्योंकि भले ही आप शेयर मार्केट में शेयर खरीदते या बेचते नहीं हो फिर भी इसके बारे में बेसिक जानकारी होना जरूरी है अगर आपको इन सब के बारे में पता नहीं है तो आप इस आर्टिकल को लास्ट तक पड़े क्योंकि हम आपको बताएंगे कि निफ्टी क्या है सेंसेक्स और निफ्टी में क्या फर्क होता है nifty किस प्रकार खरीदते हैं और शेयर मार्केट में इन सबको जानने के लिए आप हमारे आर्टिकल में लास्ट तक जरूर बने रहे

Nifty kya hai hindi निफ्टी क्या है?

दोस्तों अब हम जानेंगे कि निफ्टी क्या है तो निफ्टी का फुल फॉर्म होता है नेशनल स्टॉक एक्सचेंज 50 एनएससी में लिस्टेड भारत की सबसे बड़ी 50 कंपनी की जो टॉप कंपनी शेयर मार्केट में है उनको दर्शाती है और यह उनके परफॉर्मेंस को दर्शाती है

निफ्टी में जितनी भी कंपनी रजिस्टर्ड है वाह अच्छा परफॉर्म करते हैं तो निफ्टी हमेशा ऊपर जाएगी यानी कि शेयर मार्केट पॉजिटिव चल रहा है अगर इन 50 कंपनियों का प्रदर्शन खराब रहता है तो निफ्टी नीचे आती है तो मतलब शेयर मार्केट में नेगेटिव इफेक्ट पड़ रहा है और शेयर का प्राइस नीचे आ रहा है

निफ्टी की शुरुआत सबसे पहले 1996 में की गई थी और निफ्टी में 13 अलग-अलग सेक्टर की कंपनियां रजिस्टर्ड है यानी कि यह 13 कंपनी अलग-अलग सेक्टर से है कोई इलेक्ट्रिकल्स के सेक्टर से है तो कोई स्टील के सेक्टर से है ऐसे सब अलग-अलग कंपनियों को मिलाकर 13 सेक्टरों से निफ्टी बनाई गई है

और निफ्टी में रजिस्टर्ड कंपनियां हमेशा एक जैसी नहीं रहती अगर कोई कंपनी का प्रदर्शन खराब रहता है तो वह निफ्टी की 50 लिस्ट से बाहर चली जाती है और दूसरी नई कंपनी जिसका प्रदर्शन अच्छा रहता है उसे ऐड कर लिया जाता है इस प्रकार आप समझ सकते हैं कि निफ्टी में हमेशा एक निजी कंपनी रजिस्टर्ड नहीं रहती  समय-समय पर बदलाव आते रहते हैं

अगर निफ्टी की बात आसान भाषा में की जाए तो इसे आप इस प्रकार समझ सकते हैं कि शेयर बाजार का लाभ के कैपस्टॉक का बेच मार्क गया और निफ्टी के हिसाब से शेयर बाजार और देश की अर्थव्यवस्था को अच्छी तरह से दर्शाती है

निफ्टी कोई share  नहीं है यह  1 इंडेक्स है आप nifty 20 के द्वारा ही निफ्टी को खरीद सकते हैं और निफ्टी का ट्रेंड ऐसा चलता है यानी कि आपने निफ्टी buy कर ली अगर शेयर मार्केट में पॉजिटिव खबर आएगी तो निफ्टी का ग्राफ ऊपर जाएगा और शेयर मार्केट में नेगेटिव खबर आएगी यानी कि शेयर मार्केट नीचे जा रहा है तो आपके द्वारा खरीदी गई निफ्टी का प्राइस भी लो होगा यानी नीचे आएगा

सेंसेक्स क्या है sensex kya hai

दोस्तों अब हम बात करते हैं सेंसेक्स क्या है और यह कैसे काम करता है और इसकी स्थापना कब हुई थी सेंसेक्स की शुरुआत 1 जनवरी 1986 में हुई थी और सेंसेक्स में टोटल कंपनी 30 रजिस्टर्ड है जबकि निफ्टी फिफ्टी में 50 कंपनी रजिस्टर्ड है और इसका सेंसेक्स मुंबई स्टॉक एक्सचेंज में लिस्ट है इसे आप शार्ट में bse30  भी बोलते हैं

सेंसेक्स शब्द को दो अलग-अलग शब्दों से मिलकर बनाया गया है पहला है सेंसेटिव इंडेक्स जबकि इसे आप bse 30 के नाम से भी जानते हैं

निफ्टी और सेंसेक्स में क्या फर्क है

दोस्तों आप ने सबसे पहले जाना कि निफ्टी क्या होती है इसके बाद आपने जाना कि सेंसेक्स क्या होता है अब हम जानेंगे कि निफ्टी और सेंसेक्स में क्या अंतर है

  1. सेंसेक्स की स्थापना 1986 में हुई थी और निफ्टी की स्थापना 1996 में हुई थी
  2.  सेंसेक्स में बीएससी के टॉप 30 कंपनी इंडेक्स है जबकि निफ्टी में nse की टॉप 50 कंपनियां इंडेक्स हैं
  3.  दोस्तों sensex  की birth year 1995 है और वही बात की जाए निफ्टी की वैल्यू की तो उसकी वैल्यू 1000 है जबकि सेंसेक्स का birth 1978 79 है और सेंसेक्स की  वैल्यू 100 है
  4.  दोस्तों सेंसेक्स और निफ्टी के मुकाबले कम महत्व दिया जाता है जबकि निफ्टी बाजार को दर्शाता है और बाजार के उतार-चढ़ाव को निफ्टी के द्वारा बहुत आसानी से समझ सकते हैं
  5.  निफ्टी के पास स्टॉक ज्यादा होने के कारण उसका cap  sensex से कहीं ज्यादा है

अब हम जानेंगे निफ्टी से जुड़े कुछ सवाल जो ज्यादातर लोगों को पूछे जाते हैं

  • भारत में कुल कितने index है तो भारत में टोटल 50 index रजिस्टर्ड हैं
  • निफ्टी को कौन मैनेज करता है तो दोस्तों  nifty को मैनेज करने के लिए प्रोडक्ट लिमिटेड iisl और भारत इंडिया  मैनेज करती हैं

Nifty 50 ETF क्या होता है?

दोस्तों आप जब भी nifty50  खरीदते हो तो आप स्टॉक मार्केट से खरीद लेते हो लेकिन उसमें आप लॉन्ग टर्म तक इन्वेस्टमेंट नहीं कर पाते अगर आपको nifty50 में लॉन्ग टाइम तक इन्वेस्टमेंट करना है तो उसके लिए आपको ईटीएफ का इस्तेमाल किया जाता है

जिससे आप जो शेयर खरीदने हैं वह nifty50 में लंबे समय तक खरीद कर अपने पास रख सकें अब आप समझ गए होंगे कि निफ्टी फिफ्टी etf क्या होता है

nifty kya hai hindi आर्टिकल से  आपने क्या सीखा

दोस्तों हमने हमारे आर्टिकल में आपको बताया है कि nifty kya hai hindi nifty 50 क्या है सेंसेक्स क्या है निफ्टी फिफ्टी कैसे काम करती है sensex कैसे काम करता है निफ्टी को आप किस प्रकार खरीद सकते हैं और सेंसेक्स को आप किस प्रकार खरीदते हैं और इनका असर शेयर मार्केट पर कैसे होता है इन सबकी जानकारी हमने हमारे आर्टिकल में दी है अगर आपको हमारे द्वारा लिखा आर्टिकल Nifty kya hai hindi अच्छा लगता है तो अपने दोस्तों के साथ शेयर करें और हमें कमेंट करके जरूर बताएं कि आपको हमारे द्वारा लिखा गया आर्टिकल कैसा लगा धन्यवाद

 

Previous articleWest Indies vs South Africa T20 series 2024 | West Indies vs South Africa T20 full highlight
Next articleBse or nse me kya antar hai in hindi | what is diffrent bse and nse
Manoj Meena
हेलो दोस्तों मेरा नाम मनोज मीना है मैं बीए फाइनल ईयर का छात्र हूं मुझे बायोग्राफी लिखना काफी पसंद है क्योंकि हिंदी में ज्यादातर जानकारी किसी के बारे में भी उपलब्ध नहीं होती इसीलिए मैं ज्यादातर जानकारी इकट्ठी कर कर पॉपुलर पर्सन के बारे में बायोग्राफी लिखता हूं आप मुझे इंस्टाग्राम और फेसबुक पर फॉलो भी कर सकते हैं

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here